जुलाई में बढ़ेंगी 411 खाद्य एवं पेय पदार्थों की क़ीमतें

कमज़ोर येन, वितरण लागत और अन्य कारकों के चलते जुलाई में 411 खाद्य एवं पेय पदार्थों की क़ीमतें बढ़ने का अनुमान है।

निजी अनुसंधान कंपनी तेइकोकु डाटाबैंक ने जापान-भर में 195 प्रमुख खाद्य एवं पेय पदार्थ निर्माताओं का सर्वेक्षण किया।

इनमें से लगभग आधी वस्तुएँ, आयातित वाइन, व्हिस्की और कॉफ़ी उत्पाद जैसे मद्य व पेय पदार्थ हैं। काकाओ बीन की क़ीमतों में उछाल के कारण ब्रेड के साथ-साथ चॉकलेट उत्पादों और स्नैक्स के दाम भी बढ़ेंगे।

इस वर्ष जनवरी से नवम्बर तक 10,086 खाद्य पदार्थों की क़ीमतें बढ़ने वाली हैं। यह लगातार तीसरा वर्ष होगा, जब क़ीमतें 10,000 का आँकड़ा पार करेंगी।

बड़ी संख्या में व्यवसाय, कच्चे माल और वितरण की उच्च लागत को ज़िम्मेदार मान रहे हैं। लगभग 30 प्रतिशत ने कमज़ोर येन का हवाला दिया है, जो पिछले साल की इसी अवधि से 18 प्रतिशत अंकों की वृद्धि को दर्शाता है। लगभग 26 प्रतिशत ने श्रम लागत को इसका कारण बताया, जो लगभग 17 अंकों की वृद्धि है।

अनुसंधान कंपनी के अनुसार येन के और अधिक अवमूल्यन से आयात लागत बढ़ने के कारण और अधिक वस्तुओं की क़ीमतों में फिर उछाल आ रहा है। कंपनी का अनुमान है कि इस वर्षांत तक लगभग 15,000 खाद्य वस्तुओं के दाम बढ़ेंगे।