जापान व फ़िलीपींस मीथेन उत्सर्जन कम करके कार्बन क्रेडिट करेंगे साझा

जापानी प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल से फ़िलीपींस में धान के खेतों से होने वाले मीथेन गैस उत्सर्जन में कटौती कर, कार्बन क्रेडिट साझा करने पर जापान और फ़िलीपींस सहमत हो गये हैं।

जापान के कृषि मंत्रालय ने शुक्रवार को बताया कि परियोजना की बारीकियों पर फ़िलीपींस के साथ सहमति बन गयी है।

मंत्रालय ने कहा कि धान के खेतों से नियमित रूप से जल निकासी तथा मिट्टी को ऑक्सीजन के संपर्क में लाने के लिए जापान प्रौद्योगिकी उपलब्ध करायेगा, ताकि मीथेन गैस पैदा करने वाले जीवाणुओं की गतिविधियों को रोका जा सके।

समझा जाता है कि दुनिया भर की कृषि भूमि से होने वाले ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन में धान के खेतों की हिस्सेदारी 48 प्रतिशत है। इसके लिए मीथेन गैस को सबसे अधिक ज़िम्मेदार माना जाता है।

बारी-बारी से खेत गीला करने और सुखाने वाली इस तकनीक से मीथेन उत्सर्जन में 35 प्रतिशत की कमी होने और फसल की पैदावार में 20 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि होने की उम्मीद है।

ज्वाइंट क्रेडिटिंग मकैनिज़म नामक एक ढाँचे के तहत, जापान और फ़िलीपींस उत्सर्जन कटौती से प्राप्त क्रेडिट साझा करेंगे।

द्विपक्षीय क्रेडिट-साझाकरण व्यवस्था के तहत जापान साझेदार देशों को पहले ही अक्षय ऊर्जा प्रौद्योगिकी उपलब्ध करा चुका है।

लेकिन कृषि मंत्रालय का कहना है कि फ़िलीपींस के साथ यह परियोजना कृषि क्षेत्र में पहली होगी। मंत्रालय का कहना है कि वह वियतनाम को भी इसी तरह की तकनीक मुहैया कराने की उम्मीद कर रहा है।