जापान की कम प्रसिद्ध जगहों का रुख़ कर रहे हैं ज़्यादा से ज़्यादा विदेशी पर्यटक

एक नये सर्वेक्षण से पता चला है कि जापान आने वाले ज़्यादा से ज़्यादा पर्यटक, पारम्परिक रूप से लोकप्रिय स्थलों की बजाय कम प्रसिद्ध स्थानों की ओर जाना पसंद कर रहे हैं।

सोशल नेटवर्किंग साइटों पर फैलती जानकारी, ऐसे अप्रत्याशित क्षेत्रों में पर्यटकों की संख्या में अचानक वृद्धि को सहारा दे रही है।

तोक्यो स्थित आईटी कंपनी, नेविटाइम जापान ने विदेशी सैलानियों के लिए एक पर्यटन ऐप विकसित की है। कंपनी ने जीपीएस लोकेशन डाटा के आधार पर मार्च से मई की अवधि में पर्यटकों के बीच उच्च वार्षिक वृद्धि दर वाली नगरपालिकाओं को अंक दिये हैं।

तोक्यो के निकट कानागावा प्रीफ़ैक्चर स्थित मिनामिआशिगारा शहर, 32 गुणा वृद्धि के साथ सूची में पहले पायदान पर है। यहाँ के एक उद्यान में चैरी की स्थानीय किस्म के फूलों को देखने आये पर्यटकों की भीड़ को इस वृद्धि का श्रेय जाता है। ग़ौरतलब है कि ये फूल दूसरी किस्मों के फूलों से पहले खिल जाते हैं।

फ़ुकुइ प्रीफ़ैक्चर स्थित कात्सुयामा शहर 24 गुणा वृद्धि के साथ दूसरे स्थान पर रहा। यहाँ के लोकप्रिय पर्यटन स्थलों में एक विशाल बुद्ध प्रतिमा, एचिज़ेन दाइबुत्सु शामिल है।

मिए प्रीफ़ैक्चर का सुज़ुका शहर तीसरे पायदान पर रहा, जहाँ पर्यटकों की संख्या एक वर्ष पहले की तुलना में लगभग 7 गुणा बढ़ी।

नेविटाइम का कहना है कि बार-बार जापान आने वाले पर्यटकों की संख्या बढ़ रही है और ऐसे लोग अब कम प्रसिद्ध जगहों पर जाना पसंद कर रहे हैं। नेविटाइम के अनुसार सोशल नेटवर्किंग साइटों पर पोस्ट की जाने वाली जानकारी, पर्यटकों की संख्या में वृद्धि को और बढ़ा रही है।