जापानी बुकस्टोर्स की बिक्री बढ़ाने का लक्ष्य

जापान के स्थानीय बुकस्टोर मंदी का सामना कर रहे हैं क्योंकि ज़्यादातर लोग ऑनलाइन खुदरा विक्रेताओं और डिजिटल किताबों की ओर रुख़ कर रहे हैं। सरकार अब इस व्यवसाय में नयी जान फूंकने की कोशिश कर रही है।

जापान के उद्योग एवं शिक्षा मंत्री ने एक प्रकाशक द्वारा आयोजित कार्यक्रम में भाग लिया। इस कार्यक्रम का उद्देश्य किताबों की छोटी दुकानों के सामने आ रही समस्याओं पर चर्चा करना था।

उपन्यासकार इमामुरा शोगो इस व्यवसाय को बचाने के लिए काम कर रहे हैं।

वे कहते हैं, "जापान में सांस्कृतिक सामग्री की एक विस्तृत शृंखला है, जिसमें विशेष प्रकार के मांगा और अन्य साहित्यिक कृतियाँ शामिल हैं। मेरा मानना ​​है कि स्थानीय किताबों की दुकानें इन विविध सामग्रियों की बिक्री का मुख्य स्रोत रही हैं।"

उद्योग मंत्री साइतो केन ने कहा कि सरकार स्थानीय पुस्तकालयों और पुस्तक विक्रेताओं के बीच सहयोग को बढ़ावा देने की योजना पर विचार कर रही है। पुस्तकालय स्थानीय दुकानों से अधिक पुस्तकें ख़रीदेंगे। लोग आस-पास के पुस्तक विक्रेताओं से पुस्तकालय की सामग्री का लेन-देन कर सकेंगे।

साइतो ने कहा कि जापान की एक-चौथाई नगर पालिकाओं में किताबों की दुकानें नहीं हैं, जिससे बच्चे ऐसी दुकानों पर जाने के आनंद से वंचित रहते हैं।