ज़ब्त रूसी परिसंपत्ति से उक्रेन की मदद करने पर बाइडन और माक्रों सहमत

अमरीका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने कहा कि वे और फ़्राँस के राष्ट्रपति इमैनुएल माक्रों इस बात पर सहमत हो गये हैं कि रूस की ज़ब्त परिसंपत्ति से होने वाले मुनाफ़े का इस्तेमाल उक्रेन की मदद के लिए कैसे किया जाए।

रविवार को एक पत्रकार ने बाइडन से पूछा कि क्या माक्रों के साथ उनकी इस मुद्दे पर चर्चा हुई है और कोई समझौता हुआ है या नहीं। बाइडन ने जवाब दिया, "बेशक हाँ।"

फ़्राँस के दौरे पर गये बाइडन ने इसका कोई ब्योरा नहीं दिया।

जी7 देश, रूसी केंद्रीय बैंक की ज़ब्त परिसंपत्ति से होने वाले मुनाफ़े का इस्तेमाल उक्रेन की मदद के लिए करने पर विचार कर रहे हैं। रूस को उक्रेन पर आक्रमण करने से रोकने के लिए इन परिसंपत्तियों को ज़ब्त किया गया था।

अमरीका का अनुमान है कि ज़ब्त की गयी परिसंपत्ति से प्रति वर्ष 3 से 5 अरब डॉलर का मुनाफ़ा होगा। अमरीका, संपार्श्विक के रूप में इस मुनाफ़े का इस्तेमाल कर, उक्रेन को 50 अरब डॉलर तक का ऋण देना चाहता है।

जी7 देशों के नेता बृहस्पतिवार को इटली में शुरू होने वाले शिखर सम्मेलन में इस मुद्दे पर चर्चा करेंगे।