ईरान के राष्ट्रपति चुनाव में अयोग्य घोषित हुए प्रमुख सुधारवादी व उदारवादी उम्मीदवार

ईरान सरकार ने 28 जून को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव में भाग लेने के लिए 6 लोगों की सूची जारी की है। ग़ौरतलब है कि अधिकांश प्रमुख सुधारवादी और उदारवादी उम्मीदवारों को चुनाव लड़ने के लिए अयोग्य घोषित कर दिया गया है।

गृह मंत्रालय ने रविवार को चुनाव के लिए उम्मीदवारों की सूची जारी की। इस चुनाव की घोषणा पिछले महीने राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी की हेलीकॉप्टर दुर्घटना में मृत्यु के बाद की गयी थी।

80 लोगों ने उम्मीदवारी के लिए आवेदन किया था। गार्डियन काउंसिल यानि इस्लामी न्यायविदों और अन्य लोगों की एक समिति ने देश की इस्लामी संरचना के प्रति वफ़ादारी जैसी उनकी योग्यताओं की जाँच करने के बाद उनमें से केवल 6 को उम्मीदवार के रूप में मंज़ूरी दी।

इन 6 लोगों में संसद अध्यक्ष, मोहम्मद बाकर कलीबाफ़ भी शामिल हैं, जो कभी इस्लामिक रिवोल्यूशनरी गार्ड कोर से जुड़े थे। वे रईसी की तरह ही कट्टर रूढ़िवादी हैं। ग़ौरतलब है कि रईसी प्रशासन के पश्चिमी देशों के साथ गहरे मतभेद थे।

इस सूची में एक और कट्टर रूढ़िवादी, सईद जलीली का नाम भी शामिल है। वे राष्ट्रीय सुरक्षा एवं विदेश मामलों के प्रभारी निकाय, सर्वोच्च राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद् के सचिव थे।

उप संसदीय अध्यक्ष और स्वास्थ्य मंत्री रह चुके मसूद पेज़ेश्कियान का नाम भी इस सूची में शामिल है। वे एक सुधारवादी हैं जो पश्चिमी शक्तियों के साथ संवाद चाहते हैं।

लेकिन अन्य प्रमुख सुधारवादियों और उदारवादियों को अज्ञात कारणों से अयोग्य घोषित कर दिया गया है।

पूर्व राष्ट्रपति महमूद अहमदीनेजाद को भी चुनाव लड़ने से रोक दिया गया। वे ग़रीब तबके के बीच लोकप्रिय हैं।