व्हाइट हाउस के सामने की गयी गाज़ा में तत्काल संघर्षविराम की माँग

अमरीका की राजधानी वॉशिंगटन में हज़ारों प्रदर्शनकारियों ने इकट्ठा होकर गाज़ा पट्टी में इज़्रायल और मुस्लिम गुट हमास के बीच तत्काल संघर्षविराम की माँग की है।

संघर्षविराम और बंधकों की रिहाई के मुद्दे पर वार्ता में आये गतिरोध को देखते हुए अरब मूल के अमरीकी समूहों के आह्वान पर शनिवार को समूचे अमरीका से प्रदर्शनकारी राजधानी में एकत्र हुए।

"नरसंहार रोको" और "इज़्रायल को सैन्य सहायता मत दो" जैसे नारों वाली तख़्तियाँ पकड़े प्रदर्शनकारियों से व्हाइट हाउस के सामने का चौराहा खचाखच भर गया।

एक प्रदर्शनकारी ने कहा कि वह यह ख़ूनी तमाशा और बच्चों की हत्याएँ बंद होते देखना चाहता है।

उसने यह भी कहा कि राष्ट्रपति जो बाइडन को संघर्षविराम के प्रयास करने चाहिए और अमरीका को चाहिए कि वह इज़्रायल को मदद देना बंद करे।

एक अन्य प्रदर्शनकारी ने गाज़ा पट्टी में हर रोज़ मारे जा रहे लोगों के बारे में बात की।

उसने कहा कि इस तबाही को बयां नहीं किया जा सकता और इस मामले में "लक्ष्मण रेखा" 8 महीने पहले ही पार की जा चुकी है।

अमरीका में कई लोग इज़्रायल के समर्थन में आवाज़ उठा रहे हैं, लेकिन गाज़ा में आम नागरिकों के हताहत होने के मामले बढ़ने के बाद, इज़्रायल को सैन्य सहायता दे रहे बाइडन और उनके प्रशासन को बढ़ती आलोचनाओं का सामना भी करना पड़ रहा है।

ग़ौरतलब है कि गाज़ा संघर्ष का असर, नवम्बर में होने वाले राष्ट्रपति चुनाव पर पड़ सकता है।