उक्रेन के प्रति समर्थन में माक्रों व बाइडन ने की एकजुटता की पुष्टि

फ़्राँस के राष्ट्रपति इमैनुएल माक्रों ने उक्रेन को मदद देने के मुद्दे पर अन्य पश्चिमी देशों के साथ फ़्राँस की एकजुटता पर बल दिया है।

उक्रेनी राष्ट्रपति वोलोदिमीर ज़ेलेंस्की के साथ बैठक के एक दिन बाद शनिवार को पेरिस में माक्रों ने अमरीकी राष्ट्रपति जो बाइडन से मुलाक़ात की।

संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में माक्रों ने बल देते हुए कहा कि फ़्राँस, अमरीका और अन्य पश्चिमी देशों को यूरोप की सुरक्षा व स्थिरता की रक्षा करने के लिए उक्रेन को लगातार मदद देते रहनी होगी।

माक्रों ने कहा कि पिछले कुछ महीनों में पश्चिमी देशों ने उक्रेन को अधिकार दिये हैं कि वह पश्चिमी देशों के हथियारों से रूसी भू-भाग में मौजूद ठिकानों पर हमला करे और साथ ही पश्चिमी देशों ने उन देशों का गठबंधन तैयार करने की योजना भी बनायी है, जो उक्रेन में सैनिकों को प्रशिक्षण देने के लिए अपने सैन्य प्रशिक्षक भेजेंगे।

माक्रों ने आशा व्यक्त की कि 13 जून को इटली में आरम्भ होने वाले जी7 शिखर सम्मेलन में उक्रेन के प्रति समर्थन का संकल्प भी लिया जाएगा।

बाइडन ने कहा, "पुतिन उक्रेन तक रुकने वाले नहीं हैं। बात केवल उक्रेन की नहीं है। बात उक्रेन से बढ़कर है। ख़तरा पूरे यूरोप के लिए होगा।"

उन्होंने यह भी कहा कि "अमरीका उक्रेन के साथ मज़बूती से खड़ा है। हम अपने सहयोगियों के साथ खड़े हैं।"