सहायता में देरी के लिए बाइडन ने ज़ेलेंस्की से माँगी माफ़ी

अमरीका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने रूसी हमलों का मुक़ाबला करने के लिए उक्रेन को दी जाने वाली अमरीकी सैन्य सहायता में देरी के लिए राष्ट्रपति वोलोदिमीर ज़ेलेंस्की से क्षमायाचना की है।

दोनों नेताओं ने शुक्रवार को डी-डे यानि निर्णायक दिवस की 80वीं बरसी के मौक़े पर आयोजित सभा से इतर पेरिस में मुलाक़ात की।

बाइडन ने कहा कि अमरीकी संसद को "विधेयक पारित करवाने में मुश्किलें आयीं" क्योंकि "अति रूढ़िवादी" रिपब्लिकन सांसदों ने इसका रास्ता "रोका हुआ था।"

उन्होंने बल देते हुए कहा कि अमरीकी जनता अब भी उक्रेनी लोगों के साथ "खड़ी है।" उन्होंने रूसी हमलों का डटकर मुक़ाबला करने के लिए उक्रेनियों की प्रशंसा की। ग़ौरतलब है कि अन्य देशों की तुलना में अमरीका ने अब तक उक्रेन को सर्वाधिक सैन्य सहायता दी है।

बाइडन ने इस अवसर पर अपने छठे सहायता पैकेज की घोषणा की। यह 22.5 करोड़ डॉलर मूल्य का अतिरिक्त सहायता पैकेज है, जिसमें वायु-रक्षा प्रणालियों और तोपखानों के अलावा टैंक-रोधी हथियार शामिल हैं।

ज़ेेलेंस्की ने बाइडन का आभार व्यक्त करते हुए अमरीका के सभी दलों से समर्थन की अपील की।

उन्होंने कहा कि यह बेहद महत्त्वपूर्ण है कि "सभी अमरीकी, उक्रेन का साथ दें, जैसा कि अमरीका ने द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान लोगों की जान और यूरोप को बचाने के लिए किया था।"