पापुआ न्यू गिनी में भूस्खलन के 2 हफ़्ते बाद समाप्त हुआ बचाव कार्य

पापुआ न्यू गिनी में अधिकारियों ने भीषण भूस्खलन के 2 सप्ताह बाद बचाव कार्य रोक दिया है, हालाँकि अब भी कई लोग लापता बताये जा रहे हैं। ग़ौरतलब है कि देश के उत्तर में स्थित एक गाँव इस भूस्खलन में दफ़्न हो गया है।

प्रांतीय सरकार के अनुसार बचाव अभियान और शवों की तलाश का काम बृहस्पतिवार को समाप्त कर दिया गया। इलाक़े में और भूस्खलन होने और शवों के सड़ने से बीमारियाँ फैलने का ख़तरा है। इलाक़े को "सामूहिक कब्रगाह" का दर्जा दे दिया गया है।

यह आपदा, राजधानी पोर्ट मोरेस्बी से क़रीब 600 किलोमीटर पश्चिमोत्तर स्थित पर्वतीय प्रांत एन्गा में 24 मई को आयी थी।

10 लोगों के मारे जाने की पुष्टि की गयी है लेकिन भूस्खलन की भयावहता के कारण मृतकों की असल संख्या का पता लगाना मुश्किल हो गया है।

सरकार के अनुसार मलबे और कीचड़ में कम से कम 2,000 लोग दफ़्न हैं। यह संख्या संयुक्त राष्ट्र एजेंसी के 670 के अनुमान से कहीं अधिक है।

बचाव अभियान, ख़तरनाक परिस्थितियों और मुख्य राजमार्ग तथा अन्य सड़कों के टूट जाने के कारण कई बार बाधित हो चुका है।

एक सहायता संगठन के अनुसार कुछ लोग केवल लाठी-डंडों के सहारे अपने परिजनों और जानकारों की तलाश में जुटे हैं। प्रांतीय सरकार, ख़तरनाक इलाक़ों में मौजूद 1,000 से अधिक निवासियों को वहाँ से निकलने के लिए कह रही है।