कैमरून के पूर्व नेता होंगे सं.रा. महासभा के नये अध्यक्ष

संयुक्त राष्ट्र महासभा ने कैमरून के पूर्व प्रधानमंत्री फ़िलेमोन यांग को अपना अगला अध्यक्ष चुना है। उनका एक साल का कार्यकाल सितंबर में शुरू होगा।

बृहस्पतिवार को अपने भाषण में यांग ने कहा कि भू-राजनैतिक तनाव राष्ट्रों के बीच अविश्वास को बढ़ावा दे रहा है और शस्त्र दौड़ बढ़़ा रहा है। उन्होंने कहा कि विश्व के विभिन्न क्षेत्रों में संघर्ष बढ़ रहे हैं, जिससे नागरिकों पर असहनीय असर पड़ रहा है। उन्होंने कहा, "गाज़ा और उक्रेन इसके बहुत दर्दनाक उदाहरण हैं।"

सभा ने जनवरी 2025 से दो साल के कार्यकाल के लिए सुरक्षा परिषद् के पाँच ग़ैर-स्थायी सदस्यों का भी चयन किया। दुनिया के प्रत्येक क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करने वाले उम्मीदवार देशों में से डेनमार्क, ग्रीस, पाकिस्तान, पनामा और सोमालिया चुने गये। पाकिस्तान अगले साल एशिया-प्रशांत क्षेत्र के प्रतिनिधि के रूप में जापान की जगह लेगा।

संयुक्त राष्ट्र महासभा और सुरक्षा परिषद् उक्रेन पर रूसी आक्रमण तथा इज़्रायल और हमास के बीच लड़ाई के मद्देनज़र बढ़ते टकराव और असमानता दूर करने के तरीके तलाश रहे हैं।