ताइवान मुद्दे पर चीन ने अमरीका को लिया आड़े हाथों

चीन के रक्षा मंत्री दोंग जुन ने स्पष्ट रूप से अमरीका को ध्यान में रखते हुए आगाह किया है कि जो कोई भी ताइवान को चीन से अलग करने का प्रयास करेगा, वह आखिरकार ख़ुद को ही तबाह कर लेगा।

दोंग जुन ने रविवार को सिंगापुर में शांगरी-ला वार्ता नामक एशिया सुरक्षा शिखर सम्मेलन को संबोधित करते हुए यह बात कही।

अमरीका के बढ़ते दख़ल के बीच ताइवान पर चीन के बढ़ते सैन्य दबाव के मद्देनज़र यह सम्मेलन आयोजित किया जा रहा है।

दोंग ने कहा कि अब दुनिया एक चौराहे पर आ खड़ी हुई है। अमरीका के साथ चीन के संबंधों का ज़िक्र करते हुए दोंग ने कहा कि अच्छे संबंध बनाने के तरीक़े तलाशना महत्त्वपूर्ण है।

ग़ौरतलब है कि पिछले महीने ताइवान में डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी यानि डीपीपी के लाइ चिंग-ते ने राष्ट्रपति का पदभार संभाला था, जिसके ठीक बाद चीन ने ताइवान के आसपास सैन्याभ्यास आयोजित किया।

दोंग ने कहा कि ताइवान, चीन का मुख्य से भी मुख्य मुद्दा है और इस समय समस्या यह है कि डीपीपी प्रशासन, ताइवान की स्वतंत्रता के प्रयासों में तेज़ी ला रहा है।

रक्षा मंत्री दोंग ने कहा कि ताइवान, पूरी तरह से चीन का अंदरूनी मामला है और बाहरी ताक़तों को इसमें दख़ल देने का कोई अधिकार नहीं है।

सम्मेलन में पहली बार भाग ले रहे दोंग ने चीन के रुख़ पर बल दिया।