चीन व पड़ोसी देशों के साथ आर्थिक संबंध बढ़ाने का इच्छुक तालिबान

अफ़ग़ानिस्तान में तालिबान की अंतरिम सरकार का कहना है कि वह चीन की बेल्ट एंड रोड पहल के तहत चीन के साथ आर्थिक संबंध मज़बूत करना चाहती है। ग़ौरतलब है कि 3 वर्ष पहले तालिबान के दुबारा सत्ता में आने के बाद से अफ़ग़ानिस्तान की अर्थव्यवस्था लगातार लड़खड़ा रही है।

तालिबान के वाणिज्य मंत्रालय के प्रवक्ता अखून्दज़ादा अब्दुल सलाम जवाद ने एनएचके के साथ बातचीत में चीन के साथ कारोबारी संबंध मज़बूत करने की प्रबल मंशा व्यक्त की।

उन्होंने कहा, "हम अपने चीनी समकक्षों के साथ बेल्ट एंड रोड पहल पर चर्चा करते आये हैं। यह बहुत महत्त्वपूर्ण है क्योंकि हम इस व्यवस्था के माध्यम से चीन और पूरी दुनिया को अपना माल निर्यात कर सकते हैं।"

उन्होंने कहा कि अंतरिम सरकार, उत्तरी अफ़ग़ानिस्तान और चीन के बीच एक नया व्यापारिक मार्ग बना कर अफ़ग़ानी कच्चे तेल तथा खनिज संसाधनों के निर्यात को बढ़ावा देना चाहती है।

जवाद ने यह भी कहा कि अफ़ग़ानिस्तान, तुर्कमेनिस्तान और कज़ाख़स्तान जैसे अपने मध्य एशियाई पड़ोसियों के साथ भी सहयोग मज़बूत करेगा। उन्होंने कहा कि ये तीनों देश पश्चिमी अफ़ग़ानिस्तान में एक विशाल लॉजिस्टिक केन्द्र बनाना चाहते हैं, जो मध्य एशिया को दक्षिण एशिया से जोड़ेगा।