आगामी उक्रेन शांति शिखर सम्मेलन में ग़ैर-हाज़िर रह सकता है चीन

चीन के विदेश मंत्रालय ने संकेत दिया है कि चीन, जून में स्विट्ज़रलैंड में होने वाले उक्रेन शांति शिखर सम्मेलन में उपस्थित नहीं होगा।

उक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर ज़ेलेंस्की अपनी शांति योजना को अमली जामा पहनाने के लिए अमरीका और चीन से इस सम्मेलन में भाग लेने का आग्रह कर रहे हैं। वहीं, रूस विभिन्न देशों से भाग न लेने को कह रहा है।

चीन के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता माओ निंग ने शुक्रवार को संवाददाता सम्मेलन को संबोधित किया। उन्होंने बताया कि चीन, स्विट्ज़रलैंड के निकट संपर्क में है और उसका अब भी यही मानना है कि यह सम्मेलन कुछ शर्तों पर होना चाहिए, जिनके तहत रूस और उक्रेन दोनों इस सम्मेलन को मान्यता दें और सभी शांति योजनाओं पर निष्पक्ष चर्चाएँ हों।

माओ ने यह भी कहा कि चीन ने जो शर्तें रखी हैं उनके पूरा होने की संभावना नहीं है और सम्मेलन की व्यवस्था, चीन के प्रस्तावों और अंतरराष्ट्रीय समुदाय की अपेक्षाओं से भिन्न है। माओ के अनुसार चीन के लिए इसमें भाग लेना मुश्किल होगा।