134 ताइवानी वस्तुओं को मिल रही शुल्क रियायतें रोकेगा चीन

चीन का कहना है कि वह 15 जून से 134 ताइवानी उत्पादों को सीमा-शुल्क रियायतें नहीं देगा। ऐसा लगता है कि ताइवान के राष्ट्रपति लाइ चिंग-ते के शपथग्रहण के बाद चीन, ताइवान के आर्थिक क्षेत्र पर दबाव बढ़ा रहा है।

चीन सरकार ने शुक्रवार को कहा कि जलडमरूमध्य-पार आर्थिक सहयोग व्यवस्था समझौते के तहत इन वस्तुओं पर लागू ये तरजीही शुल्क दरों पर रोक लगा दी जाएगी।

चीन का कहना है कि ताइवान ने पक्षपात करते हुए चीनी उत्पादों पर एकतरफ़ा रोक लगा दी है। उसका कहना है कि यह रोक, समझौते का उल्लंघन है और इसे अब तक हटाया नहीं गया है।

चीन और ताइवान ने इस द्विपक्षीय मुक्त व्यापार समझौते पर 2010 में हस्ताक्षर किये थे, जिसका उद्देश्य व्यापार को और अधिक उदार बनाना था।

चीन की यह ताज़ा कार्रवाई, उसके पहले उठाये गए क़दमों का ही व्यापक रूप है। चीन, जनवरी से सीमा शुल्क रियायतें हटाता जा रहा है। वह तब से 12 वस्तुओं को मिल रही रियायतों पर रोक लगा चुका है।