उ.कोरियाई मिसाइल प्रक्षेपणों पर द.कोरिया ने बुलायी बैठक

दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति कार्यालय ने उत्तर कोरिया द्वारा हाल ही में किये गए कम दूरी की बैलिस्टिक मिसाइलों के प्रक्षेपण पर चर्चा हेतु एक बैठक बुलायी है। प्योंगयांग ने संभवतः जीपीएस सिग्नल जाम करने की भी कोशिश की है।

राष्ट्रपति के राष्ट्रीय सुरक्षा कार्यालय के सदस्यों और अन्य अधिकारियों ने बृहस्पतिवार सुबह बैठक कर स्थिति का विश्लेषण किया तथा इस पर प्रतिक्रिया देने के तरीकों पर चर्चा की।

दक्षिण कोरियाई सेना ने कहा है कि उत्तर कोरिया ने बृहस्पतिवार सुबह 6:14 बजे प्योंगयांग के निकट सुनान क्षेत्र से 10 से अधिक प्रक्षेपास्त्र दाग़े, जो संभवतः कम दूरी की बैलिस्टिक मिसाइलें हैं।

कथित मिसाइलें कथित तौर पर जापान सागर की ओर उड़ीं। माना जाता है कि कम से कम एक प्रक्षेपास्त्र ने 350 किलोमीटर से अधिक की दूरी तक की है।

योनहाप समाचार एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार ये कम दूरी की मिसाइलें प्रतीत होती हैं, जिन्हें उत्तर कोरिया "सुपर-लार्ज रॉकेट शेल" कहता है।

दक्षिण कोरिया के सैन्य प्रमुख ने कहा कि सेना ने बृहस्पतिवार सुबह उत्तर कोरिया द्वारा जीपीएस सिग्नल जाम करने के प्रयास का भी पता लगाया।

कथित तौर पर यह प्रयास, उत्तरी सीमा रेखा के उत्तरी भाग से शुरू हुआ, जो पीत सागर में दोनों कोरियाई देशों की वास्तविक समुद्री सीमा है।

सेना ने कहा कि बुधवार को भी इसी तरह के जैमिंग हमलों का पता चला था। उसने कहा कि दक्षिण कोरिया की सेना पर इसका कोई असर नहीं हुआ। लेकिन स्थानीय मीडिया ने बताया कि कुछ नागरिक जहाज़ों को जीपीएस के इस्तेमाल में समस्या का सामना करना पड़ा।