सं.रा. कार्य समूह का जापान से राष्ट्रीय मानवाधिकार संस्था स्थापित करने का आह्वान

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद् के एक कार्यकारी समूह ने जापान से राष्ट्रीय मानवाधिकार संस्था स्थापित करने का आह्वान करते हुए कई सिफ़ारिशें की हैं।

व्यापार एवं मानवाधिकार से संबद्ध इस कार्य समूह ने पिछले वर्ष जुलाई और अगस्त के बीच जापान में किये गए अपने पहले सर्वेक्षण के आधार पर एक रिपोर्ट जारी की है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि यह समूह "जापान में राष्ट्रीय मानवाधिकार संस्था की कमी" को लेकर बहुत चिंतित है तथा इसकी अनुपस्थिति "न्याय हासिल करने और प्रभावी क़दम उठाने में बहुत बड़ा रोड़ा बन सकती है।" उक्त रिपोर्ट में ऐसी संस्था की स्थापना का आह्वान किया गया है।

रिपोर्ट में लिंग के आधार पर वेतन में अंतर और कार्यकारी पदों पर महिलाओं के कम प्रतिनिधित्व के मुद्दे का भी उल्लेख किया गया है। इसके अलावा, क्षतिग्रस्त फ़ुकुशिमा दाइइचि परमाणु संयंत्र से रेडियोधर्मी कचरा हटाने और उसकी डीकमिशनिंग में लगे श्रमिकों के वेतन और स्वास्थ्य का भी उल्लेख किया गया है। रिपोर्ट में एनिमेशन उद्योग में काम के लंबे समय की बात भी कही गयी है।

रिपोर्ट के साथ ही जापान सरकार की टिप्पणियाँ भी सार्वजनिक की गयी हैं। तोक्यो का कहना है कि उसके अनुसार रिपोर्ट में कुछ बातें ऐसी हैं जो, "तथ्यात्मक रूप से ग़लत या एकतरफ़ा दावे प्रतीत होते हैं।"

यह रिपोर्ट जून के अंत में संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद् के समक्ष प्रस्तुत की जा सकती है।