हृदय रोग पीड़ित बच्चों के लिए इलास्टिक पैच अगले महीने होंगे उपलब्ध

जन्म से ही हृदय रोग से पीड़ित बच्चों के लिए जापान के एक विश्वविद्यालय और कपड़ा निर्माताओं ने संयुक्त रूप से एक एक्सपेंडेबल कार्डियक पैच विकसित किया है। नये उत्पाद जून से जापान के चिकित्सा संस्थानों में उपलब्ध होंगे।

जिन बच्चों के हृदय और हृदय की रक्त वाहिकाओं में छेदों को पैच से बंद करने के लिए सर्जरी की जाती है, उन बच्चों के शरीर का आकार बढ़ने पर उन्हें नये पैच लगाने के लिए भी शल्य क्रिया की आवश्यकता होती है।

नया पैच बच्चों के शारीरिक विकास के अनुरूप खिंचने में सक्षम है, जिससे रिप्लेसमेंट सर्जरी यानि दूसरी शल्य क्रिया की आवश्यकता नहीं रहती।

उम्मीद है कि इस पैच से बाल रोगियों पर पड़ने वाला बोझ काफ़ी कम हो जाएगा।

इसे ओसाका मेडिकल एवं फ़ार्मास्युटिकल यूनिवर्सिटी तथा ओसाका एवं फ़ुकुइ प्रीफ़ैक्चर के कपड़ा निर्माताओं द्वारा विकसित किया गया है।

विश्वविद्यालय के प्रोफ़ेसर नेमोतो शिंतारो ने सोमवार को तोक्यो में पत्रकारों से बात करते हुए उम्मीद जतायी कि इससे बच्चों की रिप्लेसमेंट सर्जरी की ज़रूरत ख़त्म हो जाएगी और वैश्विक बाज़ार में यह एक प्रतिस्पर्धी उत्पाद बन जाएगा।

सिंथेटिक रेज़िन और अन्य सामग्रियों से बने पारंपरिक पैच में कोई लचीलापन नहीं होता। बच्चों को अपनी पिछली सर्जरी के कम से कम दो साल बाद रिप्लेसमेंट सर्जरी करवानी पड़ती है।

नया पैच धागों को जाल में बुनकर बनाया गया है, जिससे यह लगभग दुगुना बड़ा हो जाता है, तथा इसकी सामग्री शरीर के ऊतकों में घुलमिल सकती है, जिससे रिप्लेसमेंट सर्जरी की आवश्यकता सैद्धांतिक रूप से नहीं रहती।