आईसीसी की गिरफ़्तारी वॉरंट माँग पर भड़के नेतनयाहू

इज़्रायल के प्रधानमंत्री बेन्यामिन नेतनयाहू ने अंतरराष्ट्रीय आपराधिक न्यायालय यानि आईसीसी के अभियोजक द्वारा इज़्रायली नेताओं के लिए गिरफ़्तारी वॉरंट की माँग का कड़ा विरोध किया है।

आईसीसी के मुख्य अभियोजक करीम खान ने सोमवार को कहा कि वह नेतनयाहू और गाज़ा पट्टी में हमास के नेता याह्या सिनवार सहित 5 लोगों की गिरफ़्तारी के वॉरंट की माँग कर रहे हैं।

खान ने कहा कि दोनों संघर्षरत पक्षों के लोगों पर युद्धापराधों और मानवता के विरुद्ध अपराधों की "आपराधिक ज़िम्मेदारी है"।

इसके जवाब में नेतनयाहू ने सोमवार को एक वीडियो संदेश में कहा, "करीम खान इज़्रायल के नेताओं और हमास के वफ़ादारों के बीच एक विकृत व झूठी नैतिक समानता स्थापित कर रहे हैं।"

मंगलवार को अमरीकी समाचार एजेन्सी एबीसी के एक कार्यक्रम में इज़्रायल से हिस्सा लेते हुए नेतनयाहू ने कहा कि खान "दुनिया भर में फैल रही यहूदी विरोधी भावना की आग में घी डाल रहे हैं।"

इज़्रायली समाचार पत्र हारेत्ज़ ने मंगलवार को बताया कि इज़्रायल "अभियोजक की माँग के जवाब में, आईसीसी पर प्रतिबंध लगाने के लिए अमरीका सरकार और संसद को राज़ी कराने की कोशिश करेगा।"

द टाइम्स ऑफ़ इज़्रायल ने कहा, "यदि न्यायालय के न्यायाधीशों द्वारा वॉरंट जारी कर दिया जाता है, तो नेतनयाहू रूसी तानाशाह व्लादिमीर पुतिन की श्रेणी में आ जाएँगे।"