द्विपक्षीय सैन्य सहयोग बढ़ायेंगे पुतिन व शी

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने द्विपक्षीय सैन्य सहयोग आगे बढ़ाने के उद्देश्य से एक संयुक्त वक्तव्य पर हस्ताक्षर किये हैं।

पुतिन ने चीन की अपनी आधिकारिक यात्रा के दौरान बृहस्पतिवार को पेइचिंग में शी के साथ वार्ता की। इस महीने की शुरुआत में अपना 5वाँ कार्यकाल आरम्भ करने के बाद यह पुतिन की पहली विदेश यात्रा है।

संयुक्त वक्तव्य में कहा गया है कि रूस, उक्रेन संकट के राजनैतिक और कूटनीतिक समाधान में रचनात्मक भूमिका निभाने के लिए चीन की तत्परता का स्वागत करता है।

वक्तव्य में रूस और चीन का आपसी सैन्य सहयोग बढ़ाने के लिए संयुक्त सैन्य अभ्यास में विस्तार की योजना का भी उल्लेख किया गया है।

इसके बाद, दोनों नेताओं ने केवल दुभाषियों की उपस्थिति में अनौपचारिक वार्ता की, साथ में सैर की और चाय पी।

ख़बर है कि यह अनौपचारिक वार्ता 4 घंटे से भी ज़्यादा चली। इससे पता चलता है कि वे पश्चिमी देशों पर नज़र रखते हुए द्विपक्षीय संबंध मज़बूत कर रहे हैं। ग़ौरतलब है कि उक्रेन और पूर्वी एशिया के हालात को लेकर पश्चिमी देशों के रूस और चीन के साथ मतभेद हैं।