अमरीकी सांसद की अणु बमबारी टिप्पणी पर जापान ने जताया खेद

जापान की विदेश मंत्री कामिकावा योको ने हमास के खिलाफ़ लड़ाई में इज़्रायल को अमरीकी सैन्य सहायता देने से जुड़ी बहस के दौरान, एक अमरीकी सांसद द्वारा 1945 की हिरोशिमा और नागासाकि अणु बमबारी का बार-बार उल्लेख किये जाने पर प्रतिक्रिया दी है।

8 मई को अमरीकी संसद में इज़्रायल को हथियारों की आपूर्ति के आंशिक स्थगन पर चर्चा के दौरान, रिपब्लिकन सांसद लिंड्से ग्रहैम ने कहा, "युद्ध लड़ने के लिए इज़्रायल को वह सब दीजिए जिसकी उसे ज़रूरत है, क्योंकि वह हारने का जोखिम नहीं उठा सकता। यह हिरोशिमा और नागासाकि से भी बड़ा है।"

एनबीसी न्यूज़ पर रविवार को एक साक्षात्कार में ग्रहैम ने पुनः 2 जापानी शहरों पर बमबारी करने के अमरीकी निर्णय का उल्लेख करते हुए कहा, "वह सही निर्णय था" तथा "इज़्रायल को युद्ध समाप्त करने के लिए आवश्यक बम दिये जाने चाहिए।"

जापान ने ग्रहैम के कार्यालय को सूचित किया था कि वह उनकी 8 मई की टिप्पणियों को अनुचित मानता है। इसके बावजूद ग्रहैम ने यह टिप्पणियाँ की हैं।

मंगलवार को पत्रकारों से बात करते हुए कामिकावा ने कहा कि ग्रहैम की नवीनतम टिप्पणियाँ अत्यंत खेदजनक हैं।

यह कहते हुए कि हिरोशिमा और नागासाकि की त्रासदी कभी दोहरायी नहीं जानी चाहिए, कामिकावा ने कहा कि जापान परमाणु हथियारों की विनाशकारी वास्तविकता की सही समझ को बढ़ावा देने के लिए निरंतर प्रयास करेगा।