म्यांमार के लोकतंत्र समर्थक समूहों ने तोक्यो में की सहायता की अपील

म्यांमार के जातीय अल्पसंख्यक और लोकतंत्र समर्थक समूहों के वरिष्ठ अधिकारियों ने तोक्यो का दौरा किया है। उन्होंने म्यांमार की सेना के साथ अपने संघर्ष का उल्लेख किया और जापान से सहायता की अपील की।

तीन जातीय अल्पसंख्यक सशस्त्र बलों के प्रतिनिधि और राष्ट्रीय एकता सरकार के एक मंत्री बुधवार को समाचार सम्मेलन में शामिल हुए।

राष्ट्रीय एकता सरकार के शिक्षा एवं स्वास्थ्य मंत्री, ज़ॉ वाई सोए ने कहा कि उन्होंने म्यांमार की 65 प्रतिशत भूमि को अपने अधिकार में ले लिया है। ग़ौरतलब है कि 2021 के तख़्तापलट के बाद सेना के ख़िलाफ़ लड़ाई शुरू हुई थी।

मंत्री का कहना है कि उनके बल अपनी शक्ति जितनी अधिक बढ़ाते हैं, सेना उतनी ही अधिक क्रूर होती जाती है और हवाई हमले कर कई लोगों की हत्या कर देती है।

उन्होंने यह भी कहा कि जब तक लोग सेना के साथ सहयोग नहीं करते, तब तक उन्हें चिकित्सा और राहत सामग्री उपलब्ध नहीं होती, क्योंकि अंतररष्ट्रीय समुदाय से बहुत सी आपूर्ति सेना के माध्यम से होती है। उन्होंने जापान सरकार से आग्रह किया कि वह ज़रूरतमंद लोगों तक सीधे मानवीय सहायता पहुँचाने के तरीके़ ढूँढे।