मानवाधिकार समूह - तख़्तापलट के बाद से म्यांमार सेना ने की 5,000 हत्याएँ

म्यांमार के एक मानवाधिकार समूह का कहना है कि तीन वर्ष पहले तख़्तापलट कर सत्ता क़ब्ज़ाने के बाद से देश की सेना ने 5,000 लोगों की हत्या की है।

राजनैतिक कैदी सहायता संघ ने पिछले शुक्रवार तक की मृतक संख्या साझा की, जिसमें लोकतंत्र समर्थक कार्यकर्ता और नागरिक भी शामिल हैं।

उसका कहना है कि पश्चिमोत्तरी क्षेत्र सागाइंग में कई लोग मारे गये हैं, जहाँ सेना और लोकतंत्र समर्थक बलों के बीच लड़ाई जारी है। देश के दूसरे सबसे बड़े शहर मांडले में भी कई लोग मारे गये हैं।

1 फ़रवरी, 2021 को हुए तख़्तापलट के बाद से देश पर सेना का नियंत्रण जारी है और वह लोकतंत्र समर्थकों को लगातार हिरासत में ले रही है।