जॉर्जिया में विदेशी फ़ंडिंग से सम्बद्ध विधेयक के ख़िलाफ़ प्रदर्शन

जॉर्जिया की राजधानी तिब्लिसी में बड़ी संख्या में लोग एक विधेयक का विरोध कर रहे हैं। उनका कहना है कि यह विधेयक विदेशी फ़ंडिंग प्राप्त करने वाले संगठनों पर लगाम कसने के उद्देश्य से लाया गया है।

देश की सत्तारूढ़ पार्टी ने इस विधेयक को पेश किया है। अगर यह विधेयक पारित हो जाता है, तो विदेश से 20 प्रतिशत से अधिक धन प्राप्त करने वाले ग़ैर-सरकारी संगठनों और मीडिया केंद्रों को खुद को विदेशी प्रभाव के तहत काम करने वाले एजेंट के रूप में पंजीकृत कराना होगा।

प्रदर्शनकारियों का कहना है कि यह विधेयक उस रूसी क़ानून के समान है जिसका उपयोग सरकार ऐसे संगठनों और मीडिया केंद्रों की गतिविधियों को सीमित करने के लिए करती है जो सरकार से विपरीत राय रखते हैं।

इस विधेयक पर मतदान शीघ्र ही होने की उम्मीद है। इसके चलते शनिवार को हज़ारों लोगों ने मध्यवर्ती तिब्लिसी के एक चौक पर रैली निकाली।

प्रतिभागियों ने कहा कि स्वतंत्र और लोकतांत्रिक जॉर्जिया को इस तरह के विधेयक की आवश्यकता नहीं है।

एक प्रतिभागी ने कहा कि यह वास्तव में रूसी क़ानून है, जो जॉर्जिया की यूरोपीय संघ में शामिल होने की आकांक्षा में बाधा बनेगा। उसने आशा जतायी कि विरोध प्रदर्शन से विधेयक को खारिज कराने में मदद मिलेगी।

ग़ौरतलब है कि जॉर्जिया ने यूरोपीय संघ सदस्यता के लिए आवेदन किया है, लेकिन माना जाता है कि सत्तारूढ़ पार्टी के संस्थापक नेता रूस के क़रीबी हैं।