उ.कोरिया ने रॉकेट लॉन्चर गोलों का किया परीक्षण

उत्तर कोरिया का कहना है कि उसके नेता किम जोंग उन ने शुक्रवार को 240 मिलीमीटर के मल्टीपल रॉकेट लॉन्चर सिस्टम के नये संस्करण के लिए नियंत्रित किये जा सकने वाले गोलों के परीक्षण का जायज़ा लिया।

उत्तर कोरिया की सत्तारूढ़ वर्कर्स पार्टी के समाचारपत्र रोदोंग सिनमुन ने शनिवार को बताया कि लॉन्चर, स्वचालित गोलाबारी व नियंत्रण प्रणाली से लैस है। उसने यह भी बताया कि दागे गये सभी 8 गोले निशाने पर लगे।

समाचारपत्र ने यह भी कहा कि यह प्रणाली इस वर्ष से 2026 तक देश की सैन्य इकाइयों में तैनात की जाएगी।

खबर है कि इन गोलों को द्वितीय अर्थव्यवस्था आयोग के तहत स्थापित एक नये राष्ट्रीय रक्षा औद्योगिक उद्यम द्वारा विकसित किया गया है। यह आयोग देश की युद्ध सामग्री के निर्यात का कार्यभार संभालता है।

समाचारपत्र के अनुसार किम ने राष्ट्रीय रक्षा आर्थिक कार्य में और तेज़ी लाने के तरीकों पर चर्चा की तथा गोलों के उत्पादन को उच्चतम स्तर तक बढ़ाने का आह्वान किया।

दक्षिण कोरिया के एकीकरण मंत्रालय ने पिछले वर्ष कहा था कि "राष्ट्रीय रक्षा आर्थिक कार्य" शब्द का मतलब हथियारों का निर्यात हो सकता है।

दक्षिण कोरिया की योनहाप समाचार एजेंसी ने पर्यवेक्षकों के हवाले से बताया कि उत्तर कोरिया संभवतः उक्रेन पर सैन्य आक्रमण जारी रखे रहे रूस को हथियार निर्यात करके, आर्थिक लाभ कमाना चाहता है।