इम्फाल की लड़ाई की 80वीं वर्षगाँठ पर भारत में स्मारक निर्मित

द्वितीय विश्व युद्ध में तथाकथित इम्फाल की लड़ाई के दौरान मारे गये लोगों को समर्पित एक स्मारक का निर्माण कार्य पूरा होने के अवसर पर आयोजित समारोह में भाग लेने के लिए पूर्वोत्तर भारत में बुधवार को लोग एकत्रित हुए।

नागालैंड के कोहिमा शहर में लड़ी गयी इस भीषण लड़ाई की 80वीं बरसी मनाने के लिए इस स्मारक का निर्माण किया गया है। स्थानीय अधिकारियों ने समारोह का आयोजन किया।

शाही जापानी सेना ने 1944 में इम्फाल में ब्रिटेन की सेना को हराने के लिए एक आक्रामक अभियान शुरू किया था। सीमित रसद के साथ लड़ते हुए लगभग 30,000 जापानी सैनिक मारे गये थे। कोहिमा में लड़ाई विशेष रूप से भयंकर थी।

युद्ध में मारे गये लोगों के अवशेषों को बरामद करने के प्रयास अब भी जारी हैं।

इस समारोह में जापान से आये लोगों ने हिस्सा लिया, जिनमें शाही सेना के एक कर्मी का परिजन भी शामिल था। उन्होंने स्मारक पर पुष्पांजलि अर्पित की और शांति की इच्छा व्यक्त की।