2040 तक जापान में 15% बुज़ुर्ग होंगे डिमेंशिया पीड़ित

जापान के स्वास्थ्य मंत्रालय ने चेतावनी दी है कि भविष्य में देश में "डिमेंशिया रोगियों की संख्या में वृद्धि" हो सकती है। अधिकारियों का अनुमान है कि 2040 तक 58 लाख से अधिक बुज़ुर्ग डिमेंशिया यानि मनोभ्रंश से पीड़ित होंगे, जो कुल वृद्ध आबादी का लगभग 15 प्रतिशत है।

मंत्रालय के शोधकर्ताओं ने यह अनुमान देश भर की चार नगरपालिकाओं में 65 वर्ष या उससे अधिक आयु के लोगों में डिमेंशिया की व्यापकता के आधार पर लगाया है।

उनका कहना है कि अगले 15 वर्षों में डिमेंशिया से पीड़ित बुज़ुर्गों की संख्या 11 लाख से अधिक हो जाएगी।

इसके अलावा, उनका कहना है कि 2040 तक 61 लाख से ज़्यादा लोगों में संज्ञानात्मक रोग के हल्के लक्ष्ण देखने को मिलेंगे। इससे पीड़ित लोगों की याददाश्त कमज़ोर होती है, लेकिन इससे उनके रोज़मर्रा के जीवन पर कोई ख़ास असर नहीं पड़ता। आगे चलकर यह अक्सर डिमेंशिया बन जाता है।

डिमेंशिया से पीड़ित अधिकतर लोग अकेले रह रहे होंगे। एक विशेषज्ञ ने सामुदायिक सहायता की आवश्यकता पर बल दिया।