राफ़ा पर इज़्रायली सेना ने की कार्रवाई

इज़्रायल की सेना का कहना है कि उसने दक्षिणी गाज़ा पट्टी में पूर्वी राफ़ा के एक सीमित क्षेत्र पर ज़मीनी हमला किया है।

वहीं, इज़्रायल का कहना है कि वह संघर्षविराम समझौते के लिए अपने शिष्टमंडल को मिस्र भेजेगा।

हमास ने सोमवार को एक वक्तव्य जारी कर कहा कि उसने क़तर और मिस्र के मध्यस्थों को सूचित कर दिया है कि गुट ने उनका संघर्षविराम प्रस्ताव स्वीकार कर लिया है।

उधर, इज़्रायली प्रधानमंत्री कार्यालय ने कहा है कि वह "अपनी पसंदीदा शर्तों वाले समझौते तक पहुँचने की संभावना को बढ़ाने के प्रयास में" अपना एक शिष्टमंडल मिस्र भेजेगा।

लेकिन उसका यह भी कहना है कि युद्ध मंत्रिमंडल ने हमास पर सैन्य दबाव बनाने और हमास की क़ैद में बंद लोगों की रिहाई के लिए राफ़ा में अभियान जारी रखने का सर्वसम्मति से निर्णय लिया है।

क़तर स्थित सैटेलाइट समाचार चैनल अल जज़ीरा का कहना है कि हमास द्वारा स्वीकृत संघर्षविराम प्रस्ताव में तीन चरण हैं, जिनमें से प्रत्येक चरण 42 दिनों का होगा।

पहले चरण में हमास, इज़्रायली जेलों में बंद क़ैदियों की रिहाई के बदले में महिलाओं और बच्चों सहित 33 बंधक रिहा करेगा।

दूसरे चरण में गाज़ा से इज़्रायल की पूर्ण वापसी और हमास द्वारा बंदी बनाये गए सैनिकों सहित सभी शेष इज़्रायली लोगों को रिहा करने की बात कही गयी है।

तीसरे चरण में संयुक्त राष्ट्र और मध्यस्थ देशों की भागीदारी के साथ गाज़ा के पुनर्निर्माण की योजना शामिल है।

मंगलवार को इज़्रायल पर हमास के घातक हमले तथा गाज़ा पट्टी में इज़्रायल का आक्रमण शुरु हुए 7 महीने पूरे हो गये।