अफ़ग़ानिस्तान में मारे गये जापानी डॉक्टर की सिंचाई परियोजना हुई पूरी

अफ़ग़ानिस्तान में ग़ैर-सरकारी संगठन के सहयोग से एक नयी सिंचाई नहर का निर्माण पूरा हो गया है, जिसका काम दिवंगत जापानी डॉक्टर नाकामुरा तेत्सु के नेतृत्व में शुरू किया गया था।

अफ़ग़ानिस्तान में कई वर्षों तक मानवीय सहायता प्रदान करने के बाद 2019 में नाकामुरा की गोली मार कर हत्या कर दी गयी थी। यह अब तक स्पष्ट नहीं है कि किसने और किस कारण से उनकी हत्या की।

अफ़ग़ानिस्तान में जापानी एनजीओ पेशावर-काइ देश में अपनी गतिविधियाँ जारी रखे हुए है। नाकामुरा इसके प्रतिनिधि हुआ करते थे।

शनिवार को पूर्वी प्रांत नंगरहार में एक उद्घाटन समारोह आयोजित किया गया जिसमें तालिबान के अधिकारी और स्थानीय निवासी शामिल हुए। नहर का निर्माण पूरा होने में क़रीब डेढ़ साल का समय लगा।

ऊर्जा और जल के कार्यवाहक मंत्री, अब्दुल लतीफ़ मंसूर ने कहा कि जापानी एनजीओ के सदस्यों ने सुदूर इलाक़े से पानी सींच कर उसके भंडारन का अविश्वसनीय काम किया है। मंसूर ने अफ़ग़ानियों को न भूलने और उनके दर्द को महसूस करते हुए उनकी मदद करने के लिए समूह को धन्यवाद दिया।

नयी नहर से लगभग 14,000 स्थानीय निवासियों के जीवन के साथ-साथ खेती में भी सुधार आने की उम्मीद है।

पेशावर-काइ की फ़ुजिता चियोको ने कहा कि अफ़ग़ानिस्तान में सूखे की स्थिति और भी बदतर होती जा रही है। उन्होंने कहा कि उनका समूह डॉ. नाकामुरा द्वारा स्थापित सिंचाई प्रणाली को अपनाने और बुरी तरह प्रभावित क्षेत्रों में उसे लागू करने में लोगों की मदद करने हेतु अपनी गतिविधि जारी रखेगा।