अपहृत जापानियों के परिजनों को मिला अमरीका का समर्थन

उत्तर कोरिया द्वारा अपहृत जापानी नागरिकों के परिजन, अपनी अमरीका यात्रा से वापस आ गये हैं। उनका कहना है कि वे अपहरण मुद्दे के समाधान की दिशा में अमरीका सरकार के अधिकारियों और सांसदों का समर्थन प्राप्त करने में सफल रहे।

ये परिजन, शेष सभी अपहृतों की स्वदेश वापसी के लिए अमरीका से समर्थन माँगने सोमवार को वॉशिंगटन गये थे।

उन्होंने जापान सरकार से भी आग्रह किया कि वह शेष अपहृतों की वापसी की माँग पर टिकी रहे।

वॉशिंगटन यात्रा के दौरान, परिजनों के समूह ने अमरीका सरकार के उच्चाधिकारियों से मुलाक़ात की, जिनमें राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद् की मीरा रैप-हूपर और विदेश मंत्रालय में नागरिक सुरक्षा, लोकतंत्र व मानवाधिकार मामलों की अवर सचिव उज़रा ज़ेया तथा संसद के दोनों सदनों के सदस्य शामिल थे।

समूह ने फ़रवरी में निर्णय लिया था कि यदि उत्तर कोरिया सभी अपहृतों को उनके माता-पिता के जीवनकाल में लौटा देता है, तो समूह उत्तर कोरिया पर लगाये गए जापानी प्रतिबंधों को हटाने का विरोध नहीं करेगा।

समूह का कहना है कि उसने अमरीकी पक्ष को अपना रुख़ स्पष्ट कर दिया है और उसका समर्थन भी प्राप्त कर लिया है।