अमरीकी फ़ेड ने ब्याज दरों में नहीं किया बदलाव

अमरीका की केन्द्रीय बैंक यानि फ़ेड ने महँगाई काबू में लाने हेतु कई प्रयास किये हैं। आंशिक सफलता के बाद महँगाई कम करने में वे प्रगति नहीं कर पाये। अब उन्होंने ब्याज दरों में बदलाव नहीं करने का फ़ैसला किया है।

फ़ेड के नीति निर्धारकों ने दरों को 20 साल से अधिक के सर्वोच्च स्तर पर पहुँचा दिया है। हालाँकि, बुधवार को हुई लगातार छठी बैठक में उन्होंने दरों में बदलाव नहीं करने का निर्णय लिया।

नीति निर्धारकों ने वक्तव्य जारी कर कहा कि बढ़ती क़ीमतें कम करने में "प्रगति नहीं हुई है" तथा उन्हें अधिक आश्वस्त होना होगा कि मुद्रास्फीति "स्थायी रूप से" 2 प्रतिशत के उनके लक्ष्य की ओर बढ़ रही है।

बैठक के बाद वॉशिंगटन में संवाददाता सम्मेलन में अध्यक्ष जेरोम पॉवेल ने कहा, "मैं बस इतना कह सकता हूँ कि उक्त विषय में आश्वस्त होने के बाद ही ब्याज दरों में कटौती की जाएगी और मुझे नहीं पता कि ऐसा कब होगा।" उन्होंने कहा कि महँगाई में गिरावट सुनिश्चित नहीं है।

हालाँकि, उन्होंने और उनके सहयोगियों ने कहा कि अर्थव्यवस्था "ठोस गति" से बढ़ी है और नौकरियों में वृद्धि "मज़बूत बनी हुई है।" उन्होंने कहा कि नीतियों में बहुत जल्द बदलाव करने से अब तक हुई प्रगति पर विपरीत असर पड़ सकता है।