केंद्र सरकार ने गेंकाइ नगर से की परमाणु कचरा स्थल संबंधी सर्वेक्षण के नतीजे स्वीकार करने की माँग

जापान के उद्योग मंत्री ने देश के पश्चिमी भाग में स्थित सागा प्रिफ़ैक्चर के गेंकाइ नगर की सरकार से माँग की है कि वह उच्च-स्तरीय रेडियोधर्मी कचरे के अंतिम निस्तारण स्थल का चयन करने के लिए प्रथम चरण के सर्वेक्षण नतीजों को स्वीकार कर ले।

गेंकाइ नगर विधानसभा द्वारा प्रथम चरण के सर्वेक्षण के नतीजों को स्वीकार करने की याचिका मंज़ूर किये जाने के पाँच दिन बाद यह क़दम उठाया गया है। यह सर्वेक्षण तीन स्थानीय संगठनों द्वारा किया गया है।

परमाणु संयंत्रों से निकलने वाले उच्च-स्तरीय रेडियोधर्मी कचरे को क़ानून के अनुसार 300 मीटर से अधिक गहराई में दबाना होता है। इसके अलावा, संभावित अंतिम निस्तारण स्थलों का चयन करने के लिए तीन चरणों में सर्वेक्षण कराए जाने की भी आवश्यकता होती है।

बुधवार को उद्योग मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने सर्वेक्षण कराने के लिए मंत्री का एक पत्र गेंकाइ के महापौर वाकियामा शिन्तारो को सौंपा।

महापौर ने कहा कि वे विधानसभा के प्रस्ताव को गंभीरता से ले रहे हैं तथा इस पर प्रतिक्रिया देने पर विचार करेंगे।

यह दूसरी बार है जब केंद्र सरकार ने स्थानीय सरकार से सर्वेक्षण स्वीकार करने का अनुरोध किया है। इससे पहले 2020 में उत्तरी प्रीफ़ैक्चर होक्काइदो में कामोएनाइ गाँव से ऐसा अनुरोध किया गया था।

प्रथम चरण का सर्वेक्षण स्थानीय सरकार द्वारा आवेदन करने अथवा केंद्र सरकार के अनुरोध को स्वीकार करने के बाद किया जाता है।

केंद्र सरकार सर्वेक्षण स्थलों की संख्या बढ़ाना चाहती है, क्योंकि कचरा दबाने के लिए स्थान ढूँढना जापान के परमाणु ऊर्जा उद्योग के लिए सबसे बड़ी चुनौतियों में से एक माना जाता रहा है।