रियूक्यू नरेशों के लुप्त चित्रों का किया गया अनावरण

दक्षिणी जापान के ओकिनावा प्रीफ़ैक्चर के तत्कालीन रियूक्यू साम्राज्य के शासकों के चित्र प्रीफ़ैक्चर को लौटाये जाने के बाद पहली बार मीडिया को दिखाये गए।

द्वितीय विश्व युद्ध के अंतिम दिनों में अमरीका और जापान के बीच ओकिनावा युद्ध के दौरान फैली अराजकता में ये चित्र और अन्य कलाकृतियाँ गायब हो गयी थीं।

पिछले वर्ष अमरीका में एक मानचित्र, धूपबत्ती स्टैंड और "ओगोए" नामक चित्रों सहित 22 वस्तुएँ मिलीं, जिन्हें इस वर्ष मार्च में ओकिनावा प्रीफ़ैक्चर को सौंप दिया गया।

मंगलवार को दो चित्रों समेत 18 वस्तुओं का अनावरण किया गया।

लगभग 180 सेंटीमीटर वर्ग के एक चित्र के बीच में एक राजा को दिखाया गया है जो आधिकारिक आयोजनों के लिए इस्तेमाल की जाने वाली पोशाक और मुकुट पहने हुए हैं। तस्वीर के निचले हिस्से में "शोसेइ-सामा" नाम लिखा है। प्रीफ़ैक्चर सरकार के अधिकारियों का कहना है कि यह चित्र राज्य के चौथे नरेश, शोसेइ का माना जाता है।

दूसरा चित्र तीन भागों में विभाजित है, जिसमें से एक भाग की लंबाई 109 सेंटीमीटर है। अधिकारियों का कहना है कि चित्र में दिख रहे राजा का नाम अज्ञात है।

ओकिनावा के गवर्नर तामाकि डेनी ने एक समारोह में कहा कि कलाकृतियों की हालिया वापसी ओकिनावा के लोगों के लिए हर्ष की बात है और यह वास्तव में महत्त्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि प्रीफ़ैक्चर इन अनमोल कलाकृतियों का सावधानीपूर्वक संरक्षण और उपयोग करेगा।