किशिदा का निचला सदन भंग करने का कोई इरादा नहीं

जापान में सप्ताहांत में हुए उप-चुनाव में विपक्षी दल कॉन्स्टीट्यूशनल डेमोक्रेटिक पार्टी द्वारा तीनों सीटें जीतने के बाद प्रधानमंत्री किशिदा फ़ुमिओ का कहना है कि उनकी तत्काल आम चुनाव कराने की कोई योजना नहीं है।

ग़ौरतलब है कि मुख्य सत्तारूढ़ लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी यानि एलडीपी ने इनमें से 2 निर्वाचन क्षेत्रों में अपना उम्मीदवार ही नहीं उतारा था, जबकि शिमाने प्रीफ़ैक्चर के निर्वाचन क्षेत्र में एलडीपी को हार का सामना करना पड़ा।

किशिदा ने मंगलवार को कहा कि चंदा घोटाले का सुलगता मुद्दा उनकी पार्टी पर भारी पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि "एलडीपी का राजनैतिक चंदा घोटाला, शिमाने के चुनाव अभियान का मुख्य मुद्दा साबित हुआ। मैं अपने उम्मीदवार और उसे समर्थन देने वाले सभी स्थानीय लोगों से कहना चाहता हूँ कि मुझे इस हार पर बेहद अफ़सोस है।"

प्रधानमंत्री ने एलडीपी अध्यक्ष के रूप में अपने कर्तव्य पूरे करने का संकल्प लिया। किशिदा ने कहा कि वह राजनीति तथा पार्टी में सुधार लाकर और महँगाई से निपटते हुए जन-विश्वास दुबारा हासिल करने का प्रयास करेंगे।