जापानी वाहन निर्माता इको-कार रेस हेतु विकसित तकनीक अन्य वाहनों में अपनायेंगे

जापानी वाहन निर्माता कार रेस प्रतियोगिताओं के ज़रिए पर्यावरण अनुकूल प्रौद्योगिकी का विकास करना चाहते हैं, जिन्हें बाद में व्यावसायिक रूप से अन्य वाहनों में इस्तेमाल किया जा सकेगा।

यामाहा मोटर ने ब्रिटेन स्थित लोला कार्स की फ़ॉर्मूला ई वाहनों के लिए मोटर सहित कुछ अन्य प्रमुख कलपुर्ज़ों की आपूर्ति हेतु उसके साथ एक तकनीकी साझेदारी समझौता किया है।

फ़ॉर्मूला ई विश्व चैंपियनशिप को फ़ॉर्मूला वन का पूर्णतः विद्युत संस्करण माना जाता है। पिछले शनिवार को जापान में इस तरह का पहला आयोजन हुआ।

यामाहा की योजना 2025 फ़ॉर्मूला ई श्रृंखला के लिए लोला को कलपुर्ज़ों की आपूर्ति करने की है। इसके बाद भविष्य में अन्य वाहन निर्माताओं को यात्री और व्यावसायिक वाहनों में उपयोग के लिए इन्हें उपलब्ध कराया जायेगा।

निस्सान पहले से ही फ़ॉर्मूला ई रेसिंग में हिस्सा ले रही है।

पिछले साल, एक अन्य ऑटो दिग्गज तोयोतो हाइड्रोजन-इंजन वाहन के साथ 24 घंटे की एन्ड्युरेंस रेस में प्रवेश करने वाली पहली कंपनी बन गयी।