इज़्रायल - अल-शिफ़ा अस्पताल पर 2 सप्ताह की छापेमारी हुई समाप्त

इज़्रायल का कहना है कि उसकी सेना, उत्तरी गाज़ा स्थित अल-शिफ़ा अस्पताल में छिपे "आतंकी गुर्गों" के ख़िलाफ़ अपनी कार्रवाई ख़त्म कर वहाँ से चली गयी है। गाज़ा के अधिकारियों ने इस हमले को "मानवता के विरुद्ध अपराध" बताते हुए इसकी निंदा की है।

इज़्रायली सेना ने सोमवार को बताया कि उसने 2 सप्ताह से भी अधिक चली छापेमारी के दौरान आतंकी गुटों से जुड़े क़रीब 500 संदिग्धों को पकड़ा और 200 को मार गिराया।

संवाद एजेंसी रॉयटर्स ने एक वीडियो जारी किया है, जिससे अल-शिफ़ा और उसके आसपास के इलाक़ों में हुई तबाही का अंदाज़ा लगाया जा सकता है। वीडियो में एक कब्र भी दिखायी गयी है जिसमें माना जाता है कि कई लोगों के शव दफ़नाये गए हैं।

गाज़ा के अधिकारियों के अनुसार इज़्रायली सेना ने अस्पताल के परिसर और उसके आसपास 400 से अधिक लोगों की हत्या की।

अधिकारियों ने इस छापेमारी को अंतरराष्ट्रीय क़ानून तथा अंतरराष्ट्रीय मानवीय क़ानून व प्रोटोकॉल के विरुद्ध एक "स्पष्ट अपराध" बताया। उन्होंने दुनिया-भर के देशों, संयुक्त राष्ट्र और अन्य संगठनों से इज़्रायल की निंदा करने का आग्रह किया है।