नोतो भूकंप के 3 माह बाद भी कठिन है प्रभावित लोगों का जीवन

मध्यवर्ती जापान स्थित नोतो प्रायद्वीप और उसके आसपास के इलाक़ों में 1 जनवरी को आये महाभूकंप को आज सोमवार को 3 महीने पूरे हो गये। आपदा प्रभावित कई लोगों के रहन-सहन की स्थिति अब भी ख़राब है और उन्हें सहायता की ज़रूरत है।

7.6 की तीव्रता के इस भूकंप में इशिकावा प्रीफ़ैक्चर में 244 लोग मारे गये थे जबकि 3 अब तक लापता हैं।

प्रीफ़ैक्चर के अधिकारियों के अनुसार शुक्रवार तक 8,109 लोग आश्रय स्थलों में रह रहे थे, जिनमें से लगभग आधे लोगों ने अपने गृहनगरों से दूर होटलों या अन्य जगहों में शरण ली हुई थी।

प्रीफ़ैक्चर को अस्थायी आवासों के लिए 7,800 आवेदन प्राप्त हुए हैं, लेकिन अब तक क़रीब 900 आवास ही बनकर तैयार हो पाये हैं। अधिकारियों का कहना है कि अगस्त के आसपास तक शेष सभी आवेदकों के लिए आवास तैयार कर लिये जाएँगे।

भूकंप प्रभावित प्रायद्वीप के उत्तरी भाग में लगभग 7,860 घरों और व्यवसायों में जलापूर्ति अब तक बहाल नहीं हो पायी है।

बड़ी संख्या में निवासी फ़िलहाल अपने भूकंप प्रभावित गृहनगरों को छोड़कर जाने का निर्णय ले रहे हैं। क्षतिग्रस्त मकानों की मरम्मत के कोई आसार दिखाई न देने और नौकरी तथा बच्चों के पालन-पोषण को लेकर चिंताओं के चलते निवासी यह निर्णय ले रहे हैं।

अधिकारियों का कहना है कि वे लोगों को उनके गृहनगरों में वापस लाने के लिए बहाली और पुनर्निर्माण कार्यों को आगे बढ़ायेंगे।