जबरन सैन्य भर्ती से नाराज़ म्यांमार के युवा

म्यांमार की सरकारी मीडिया का कहना है कि देश की सेना ने नये सैनिकों की भर्ती शुरू कर दी है।

सेना ने फ़रवरी में घोषणा की थी कि वह अप्रैल के मध्य से 18 वर्ष और उससे अधिक उम्र के नागरिकों को भर्ती करना शुरू करेगी।

वर्ष 2021 में तख़्तापलट कर सत्ता में आयी सेना को सैनिकों की कमी का सामना करना पड़ रहा है, क्योंकि वह लोकतंत्र समर्थक ताकतों और जातीय हथियारबंद गुटों के विद्रोह को रोकने की कोशिश कर रही है।

सरकारी प्रसारक ने शुक्रवार को बताया कि सैन्य सेवा के लिए स्वेच्छा से आवेदन करने वाले 184 युवाओं को राजधानी नेपिदो में पंजीकरण के लिए बुलाया गया।

नियोजित भर्ती की तिथि के बारे में कोई आधिकारिक घोषणा नहीं की गयी है।

स्वतंत्र स्थानीय मीडिया ने देश के सबसे बड़े शहर यांगोन और अन्य जगहों पर घर-घर जा कर युवाओं को जबरन भर्ती करने के लिए सैन्य अधिकारियों की आलोचना की।

सैन्य भर्ती की घोषणा के बाद से म्यांमार के युवा पड़ोसी देश थाइलैंड भाग गये हैं या लोकतंत्र समर्थक समूहों से मिल गये हैं।