किशिदा का वादा, क़ीमतों से ज़्यादा बढ़ेगा वेतन

जापान के प्रधानमंत्री किशिदा फ़ुमिओ ने संकल्प लिया है कि वर्षांत तक यह सुनिश्चित किया जाएगा कि महँगाई की तुलना में वेतन अधिक बढ़े।

जापानी संसद द्वारा बृहस्पतिवार को आगामी वित्त वर्ष के व्यय के लिए रिकॉर्ड दूसरा सबसे बड़ा मूल बजट पारित किये जाने के बाद किशिदा ने यह टिप्पणी की है।

बजट की राशि 1,120 खरब येन या लगभग 740 अरब डॉलर से अधिक है। बजट पारित होने के बाद पत्रकारों से बात करते हुए किशिदा ने कहा कि इसमें बढ़ती क़ीमतों से निपटने और वेतन बढ़ाने के लिए कई उपाय शामिल हैं।

उन्होंने कहा, "जापान अब भी अपस्फीति से बाहर निकलने के लिए आधा रास्ता ही तय कर पाया है। हम इस स्थिति से बाहर निकलने के अवसर का लाभ उठा पाएँगे या इसमें फंसे रहेंगे, यह हमारी भावी प्रतिक्रिया पर निर्भर करेगा।"

इसके बाद प्रधानमंत्री ने जापानी अर्थव्यवस्था के बारे में बात की। उन्होंने कहा कि मज़बूत वेतन वृद्धि और रिकॉर्ड उच्च पूंजी निवेश, भारी विदेशी निवेश को आकर्षित कर रहे हैं।

उन्होंने यह भी उल्लेख किया कि उनका प्रशासन गति बढ़ाने के लिए जून से आयकर कटौती की योजना बना रहा है।