उ.कोरिया - किम जोंग उन के साथ शिखर वार्ता चाहते हैं किशिदा

उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन की बहन का कहना है कि जापान के प्रधानमंत्री किशिदा फ़ुमिओ ने हाल ही में किम के साथ प्रत्यक्ष शिखर वार्ता शीघ्रातिशीघ्र करने की मंशा व्यक्त की थी।

किम यो जोंग ने सोमवार को सरकारी कोरियन सेंट्रल न्यूज़ एजेंसी के माध्यम से यह वक्तव्य जारी किया।

किम ने कहा कि किशिदा ने हाल ही में "एक अन्य माध्यम से" अपनी यह मंशा व्यक्त की थी। वक्तव्य में उत्तर कोरिया के रुख को दुहराया गया कि अपहरण का मुद्दा पहले ही सुलझा लिया गया है। किम ने कहा कि यदि जापान, उत्तर कोरिया के संप्रभु अधिकारों के प्रयोग में हस्तक्षेप करना जारी रखता है और अपहरण मुद्दा बार-बार उठाता है, तो किशिदा की शिखर वार्ता की मंशा की आलोचना की जाएगी और इसे "केवल लोकप्रियता पाने का प्रयास माना जाएगा।"

जापान सरकार का कहना है कि 1970 और 80 के दशक में उत्तर कोरियाई एजेंटों द्वारा उसके कम से कम 17 नागरिकों का अपहरण कर लिया गया था। 2002 में एक द्विपक्षीय शिखर सम्मेलन के बाद 5 को वापस भेज दिया गया, लेकिन अन्य 12 अब भी लापता हैं।

किम ने किशिदा से द्विपक्षीय संबंधों को ईमानदारी से सुधारने और एक अच्छा पड़ोसी बनने के लिए राजनैतिक निर्णय लेने का भी आग्रह किया।

उन्होंने यह भी कहा कि किशिदा के लिए किम जोंग उन से मिलना असंभव होगा, भले ही वे वास्तव में ऐसा करना चाहते हों।

किम यो जोंग ने फ़रवरी में कहा था कि किशिदा की प्योंगयांग यात्रा तब ही संभव होगी जब तोक्यो अपहरण मुद्दे को द्विपक्षीय संबंधों में बाधा न बनाये।