दक्षिणी गाज़ा में दो अस्पतालों की घेराबंदी के चलते युद्धविराम वार्ता रुकी

फ़िलिस्तीन की रेड क्रिसेंट सोसायटी यानि पीआरसीएस का कहना है कि दक्षिणी गाज़ा पट्टी के ख़ान यूनिस शहर में दो अस्पताल इज़्रायली घेराबंदी के कारण ख़तरे में हैं।

इज़्रायल ने रविवार को कहा कि उसने गाज़ा के सबसे बड़े अस्पताल, अल-शिफ़ा में लगभग 480 आतंकवादियों को पकड़ लिया है।

पीआरसीएस ने रविवार को सोशल मीडिया पर लिखा कि इज़्रायली हमलावर वाहन अत्यधिक तीव्र गोलाबारी करते हुए अल-अमल और नासिर नामक दो अन्य अस्पतालों की घेराबंदी कर रहे हैं।

इसमें कहा गया, "हमारे सभी दल इस समय काफ़ी ख़तरे में हैं और कहीं भी आ-जा नहीं सकते।"

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुतेरेस ने रविवार को अपनी मिस्र यात्रा के दौरान काहिरा में मिस्र के राष्ट्रपति अब्देल फ़तह अल-सीसी से मुलाक़ात की। बैठक के बाद पत्रकारों से बात करते हुए गुतेरेस ने इज़्रायल से सहायता प्रदान करने में आ रही बाधाएँ हटाने का अपना आग्रह दुहराया।

इस बीच, एक इज़्रायली मीडिया केन्द्र ने क़तर में युद्धविराम वार्ता होने की ख़बर दी। इसने वार्ता से जुड़े एक अधिकारी के हवाले से कहा कि इज़्रायल ने हमास द्वारा छोड़े जाने वाले प्रत्येक बंधक के बदले में इज़्रायली जेल में बंद एक से अधिक फ़िलिस्तीनियों को रिहा करने के प्रस्ताव पर सकारात्मक प्रतिक्रिया दी है।

लेकिन हमास के एक वरिष्ठ अधिकारी ने रविवार को अरब मीडिया को बताया कि इज़्रायल ने युद्धविराम और फ़िलिस्तीनी शरणार्थियों की वापसी को अस्वीकार कर दिया है। इस बात से पता चलता है कि दोनों पक्ष किसी समझौते से अभी बहुत दूर हैं।