चीनी तटरक्षक बल द्वारा पानी की बौछार से फिर घायल हुआ फ़िलीपीनी चालक दल

फ़िलीपींस की सरकार ने कहा है कि दक्षिण चीन सागर में चीनी तटरक्षक बल के जहाज़ों द्वारा उसके सैन्य आपूर्ति जहाज़ पर पानी की बौछार की गयी, जिससे चालक दल को चोटें आयीं और जहाज़ को क्षति पहुँची। इससे पहले भी महीने की शुरुआत में समान घटना हुई थी।

फ़िलीपींस की राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद् ने शनिवार सुबह घोषणा की कि सेकेंड थॉमस शोल पर एक सैन्य चौकी के पास उसके जहाज़ों के साथ बदसलूकी की गयी। पेइचिंग इस क्षेत्र पर अपना दावा करता है।

घोषणा में कहा गया कि ये जहाज़, सैन्य कर्मी और रसद ले जा रहे थे। चीन की कार्रवाई से चालक दल को चोटें आयी हैं और जहाज़ों में से एक को काफ़ी नुक़सान हुआ है।

फ़िलीपींस सेना ने इस घटना के वीडियो सहित कथित तौर पर चीन के तटरक्षक बल द्वारा की गयी अन्य कार्रवाइयों का फ़ुटेज भी जारी किया।

फ़िलीपींस सरकार का दावा है कि यह इलाका उसका अनन्य आर्थिक क्षेत्र है। उसका कहना है कि इस घटना से दुनिया समझ सकती है कि चीन "अंतरराष्ट्रीय क़ानून को तवज्जो दिये बिना अपनी कार्रवाई जारी रखते हुए खुल्लमखुला नियमों की धज्जियाँ उड़ाता है।"

चीन के तटरक्षक बल ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि बार-बार रुकने की चेतावनी के बावजूद फ़िलीपीनी जहाज़ जबरन जलक्षेत्र में घुस आये थे। चीन ने फ़िलीपींस पर दक्षिण चीन सागर में शांति और स्थिरता भंग करने की कोशिश का आरोप लगाया।

5 मार्च को, फ़िलीपीनी आपूर्ति जहाज़ का चालक दल इसी तरह की घटना में घायल हो गया था। इस नवीनतम घटना से दोनों देशों के बीच आपसी टकराव और बढ़ गया है।