जीएसडीएफ़ ने बहाल कीं ऑस्प्रे उड़ानें

जापान के थल आत्म रक्षा बल यानि जीएसडीएफ़ ने ऑस्प्रे टिल्ट-रोटर परिवहन विमान की उड़ानें फिर से शुरू कर दी हैं। ग़ौरतलब है कि पिछले वर्ष नवंबर में हुई घातक दुर्घटना के बाद ये उड़ानें स्थगित कर दी गयी थीं।

तोक्यो के निकट चिबा प्रीफ़ैक्चर के कैंप किसाराज़ु में जीएसडीएफ़ के 14 ऑस्प्रे विमान अस्थायी रूप से तैनात हैं।

दक्षिण-पश्चिमी प्रीफ़ैक्चर कागोशिमा में अमरीकी सैन्य ऑस्प्रे विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद इनकी उड़ानों पर रोक लगा दी गयी थी। इस दुर्घटना में चालक दल के सभी 8 सदस्य मारे गये थे।

अमरीकी सेना ने 8 मार्च को उड़ान पर लगे प्रतिबंध हटाते हुए कहा था कि दुर्घटना का कारण पता लग गया है।

आवश्यक रखरखाव और चालक दल का प्रशिक्षण पूरा करने के बाद जीएसडीएफ़ ने बृहस्पतिवार को ऑस्प्रे विमान की उड़ानें बहाल कर दीं।

तीन ऑस्प्रे विमानों में से एक ने प्रातः लगभग 11बजे, अपने प्रोपेलर को चालू किया और अंतिम निरीक्षण के बाद लगभग 11:40 बजे उड़ान भरी। कुछ मिनटों तक हवा में बने रहने के बाद उसने ऊँची उड़ान भरी।

उन्नत प्रशिक्षण और अन्य कार्य शुरू करने से पहले जीएसडीएफ़ ने शिविर के आसपास और समुद्र के ऊपर हवाई प्रशिक्षण करने की योजना बनायी है।

जीएसडीएफ़ ने सोमवार को किसाराज़ु शहर को सुरक्षा उपायों के बारे में जानकारी दी।