डब्ल्यूएमओ - 2023 में विश्व का औसत तापमान रिकॉर्ड सर्वाधिक

संयुक्त राष्ट्र मौसम एजेंसी का कहना है कि वर्ष 2023 में वैश्विक औसत तापमान रिकॉर्ड रखे जाने के बाद से सर्वाधिक रहा।

विश्व मौसम विज्ञान संगठन यानी डब्ल्यूएमओ ने मंगलवार को 2023 में वैश्विक जलवायु की स्थिति पर एक रिपोर्ट जारी की।

रिपोर्ट में कहा गया है कि 2023 में सतह के निकट वैश्विक औसत तापमान औद्योगिक काल से पूर्व स्तर से लगभग 1.45 डिग्री सेल्सियस अधिक था। इसमें कहा गया है कि रिकॉर्ड रखे जाने के 174 वर्षों में यह सबसे गर्म वर्ष था।

डब्ल्यूएमओ ने यह भी चेतावनी दी है कि 2023 में 90 प्रतिशत से अधिक महासागरों में "समुद्री हीटवेव" की स्थिति का अनुभव हुआ था। इसमें कहा गया है कि उच्च तापमान का समुद्री पारिस्थितिकी तंत्र और प्रवाल भित्तियों पर दुष्प्रभाव पड़ता है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि पिछले वर्ष, आर्कटिक और अंटार्कटिक, दोनों की समुद्री बर्फ़ में कमी आयी है। उपग्रह अवलोकन शुरू होने के बाद से फ़रवरी में अंटार्कटिक में समुद्री बर्फ़ रिकॉर्ड निचले स्तर पर पहुँच गयी है।

पेरिस समझौते के तहत कई देशों ने वैश्विक औसत तापमान में वृद्धि को औद्योगिक काल के पूर्व स्तर से 1.5 डिग्री सेल्सियस तक सीमित करने का लक्ष्य निर्धारित किया है।

रिपोर्ट में बाढ़ और भीषण गर्मी जैसे कठोर मौसम का दुनिया के कई हिस्सों पर गहरा असर पड़ने और लक्ष्य प्राप्ति के लिए वित्तपोषण में कमी का भी उल्लेख किया गया है।