चीन में जापानी व्यवसायी पर आरोप तय करने की प्रक्रिया शुरू

चीन के अभियोजकों ने जासूसी के संदेह में एक साल से हिरासत में रखे जापानी व्यवसायी पर आरोप तय करने की कार्रवाई शुरू कर दी है।

50 वर्षीय यह व्यक्ति प्रमुख जापानी दवा निर्माता एस्टेलस फ़ार्मा का कर्मचारी है। पिछले साल मार्च में पेइचिंग में हिरासत में लिये जाने के बाद उसे अक्तूबर में औपचारिक रूप से गिरफ़्तार किया गया था।

जापान-चीन संबंधों के जानकार सूत्रों के अनुसार अभियोजकों ने सोमवार को प्रक्रिया शुरू की। उन्हें निर्णय लेने में साढ़े छह महीने तक का समय लगने की उम्मीद है। इस अवधि के दौरान वे अतिरिक्त जाँच भी कर सकते हैं।

दोषी ठहराये जाने पर मामला अदालत में लाया जाएगा। तत्पश्चात शीघ्र रिहाई और अधिक कठिन हो जाएगी। जापानी दूतावास का कहना है कि वह चीन से जापानी व्यवसायी को शीघ्र रिहा करने का पुरज़ोर आग्रह करता रहेगा।

चीन ने कथित जासूसी गतिविधियों के लिए जापानी नागरिकों सहित कई विदेशी नागरिकों को हिरासत में लिया है।

चीन में विदेशी कारोबारियों के बीच चिंता बढ़ रही है, क्योंकि यह स्पष्ट नहीं है कि चीनी कानून के तहत कौन सी गतिविधियाँ अवैध हैं।