बीओजे ने ऋणात्मक ब्याज दर नीति व यील्ड-कर्व नियंत्रण किया समाप्त

बैंक ऑफ़ जापान यानि बीओजे अपनी विशाल मौद्रिक उदारीकरण नीति में ऐतिहासिक बदलाव लाने जा रहा है।

केंद्रीय बैंक ने अपनी ऋणात्मक ब्याज दर नीति को समाप्त करने और 17 वर्षों में पहली बार ऋण दरें बढ़ाने का निर्णय लिया है।

वह अपनी यील्ड-कर्व नियंत्रण नीति भी त्यागने जा रहा है, जिसके तहत दीर्घावधि ब्याज दरों के साथ-साथ अल्पावधि दरें भी नियंत्रित की जाती हैं।

नीति निर्धारकों ने मंगलवार को अपनी दो दिवसीय बैठक समाप्त करने के बाद इस क़दम की घोषणा की।

उन्होंने बैंक की ऋणात्मक दर नीति को समाप्त करने का निर्णय लिया है। बीओजे ने अब रात्रिकालीन कॉल रेट को अपना नया नीतिगत लक्ष्य निर्धारित किया है।

नीति निर्धारकों का कहना है कि वे रात्रिकालीन कॉल रेट को लगभग शून्य प्रतिशत पर बनाये रखने के लिए प्रोत्साहन देंगे।

फ़रवरी 2007 के बाद केंद्रीय बैंक ने ब्याज दर में पहली बार बढ़ोतरी की है।

बीओजे ने 2016 से वित्तीय संस्थानों द्वारा उसके पास जमा करायी गई कुछ राशि के लिए अल्पावधिक ब्याज दर ऋणात्मक 0.1 प्रतिशत रखी हुई है।

साथ ही, बैंक अब 10-वर्षीय सरकारी बंधपत्रों के लाभांश के लिए कोई लक्ष्य निर्धारित नहीं करेगा, जिसका अर्थ है कि अब पहले से अधिक दीर्घावधि दरें देखी जा सकती हैं।

अपनी यील्ड-कर्व नियंत्रण नीति के तहत, बैंक ने दीर्घावधि ब्याज दरों को लगभग शून्य प्रतिशत पर रखने के लिए बड़ी मात्रा में सरकारी बंधपत्र ख़रीदे हैं।