पुतिन ने की रूस के राष्ट्रपति चुनाव में जीत की घोषणा

रूस के निवर्तमान नेता व्लादिमीर पुतिन ने देश के राष्ट्रपति चुनाव में खुद को विजेता घोषित कर दिया है।

शुरुआती नतीजों से उनकी जीत की निश्चितता साबित होने पर पुतिन ने अपने चुनाव मुख्यालय में समर्थकों से बात की।

उन्होंने कहा कि वे उन सभी रूसियों को धन्यवाद देना चाहते हैं जो वोट देने आये और उन्होंने देश को एक संयुक्त परिवार क़रार दिया।

उन्होंने यह भी कहा कि चुनाव के नतीजे से रूस और मज़बूत बनेगा।

केंद्रीय चुनाव आयोग का कहना है कि लगभग 98 प्रतिशत मतपत्रों की गिनती के बाद पुतिन को 87 प्रतिशत से अधिक वोट मिले। पुतिन के सामने तीन अन्य उम्मीदवार खड़े थे।

लेकिन यह प्रतिस्पर्धा वास्तविक नहीं थी क्योंकि उक्रेन पर रूसी आक्रमण की आलोचना करने वाले उम्मीदवारों को चुनाव लड़ने से रोक दिया गया था। पश्चिमी देशों और मानवाधिकार समूहों ने मतदान को अनुचित बताते हुए इसकी आलोचना की।

चुनावी जीत से 71 वर्षीय पुतिन, पाँचवी बार राष्ट्रपति पद संभालेंगे। उनका नया कार्यकाल 2030 तक 6 साल तक रहेगा। अपने कार्यकाल में वे उक्रेन पर आक्रमण सहित अपनी वर्तमान राजनैतिक महत्त्वाकांक्षाओं को पूरा कर सकते हैं।

उक्रेनी राष्ट्रपति वोलोदिमीर ज़ेलेंस्की ने रूस के चुनाव को ख़ारिज कर दिया।

ज़ेलेंस्की ने इसे फ़र्ज़ी चुनाव बताते हुए इसे अवैध ठहराया और कहा कि पुतिन न्याय से डरते हैं।

ज़ेलेंस्की ने कहा कि पुतिन पर अंतरराष्ट्रीय आपराधिक न्यायालय में मुक़दमा चलाया जाना चाहिए।