ईयू राजनयिक - इज़्रायल को सैन्य सहायता में कटौती करे अमरीका

यूरोपीय संघ यानि ईयू के विदेश नीति प्रमुख ने गाज़ा में "अत्यधिक" आक्रामक रुख अपनाने के लिए इज़्रायली कमांडरों की आलोचना की है। जोसेप बोरेल ने सोमवार को कहा कि अमरीकी अधिकारियों को सैन्य सहायता पर पुनर्विचार करना चाहिए।

इज़्रायली कमांडर दक्षिणी शहर राफ़ा में हमले की तैयारी कर रहे हैं, जहाँ दस लाख से अधिक फ़िलिस्तीनियों ने शरण ले रखी है। उन्होंने कहा कि उन्हें क्षेत्र से हमास के आतंकवादियों को ख़त्म करना होगा।

अमरीकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने पिछले सप्ताह कहा था कि गाज़ा में आक्रामकता "हद से अधिक" रही है। बोरेल ने कहा कि कोई क़दम उठाये बिना नागरिकों की मौत के बारे में बात करना "विरोधाभासी" है। उन्होंने कहा, "अगर आपको लगता है कि बहुत सारे लोग मारे जा रहे हैं, तो शायद आपको कम हथियारों की आपूर्ति करनी चाहिए।"

बोरेल ने ब्रसेल्स में यूरोपीय संघ के मंत्रियों की एक बैठक की अध्यक्षता की। उन्होंने पश्चिम एशिया में फ़िलिस्तीनी शरणार्थियों के लिए संयुक्त राष्ट्र राहत और कार्य एजेंसी यानि यूएनआरडब्ल्यूए पर चर्चा की। इज़्रायली अधिकारियों ने एजेंसी के कर्मियों पर आरोप लगाया है कि वे अक्तूबर में इज़्रायली गांवों पर हुए हमास के हमले में शामिल थे।

इसके जवाब में, अमरीका और अन्य दाता देशों ने एजेंसी का वित्तपोषण रोक दिया है।

यूएनआरडब्ल्यूए के प्रमुख फ़िलिप लाज़ारिनी ने कहा कि यह अनुदान "बेहद महत्त्वपूर्ण" है। उन्होंने कहा कि शेष कर्मी आगामी दिनों में जान जाएँगे कि एजेंसी का संचालन जारी रहेगा या नहीं।