जापान की थोक महँगाई लगातार तीसरे महीने एक प्रतिशत से नीचे

जापान की थोक मूल्य मुद्रास्फीति में जनवरी माह में आंशिक बदलाव आया और लगातार तीसरे माह मुद्रास्फीति एक प्रतिशत से नीचे रही।

बैंक ऑफ़ जापान का कहना है कि जनवरी का प्रारंभिक उत्पादक मूल्य सूचकांक सालाना आधार पर 0.2 प्रतिशत बढ़ा।

इस सूचकांक में उन क़ीमतों को मापा जाता है जो कंपनियाँ, वस्तुओं और सेवाओं के लिए एक-दूसरे से वसूलती हैं। ये क़ीमतें ऊर्जा और कच्चे माल की लागत में उतार-चढ़ाव को दर्शाती हैं।

जनवरी के ताज़ा आँकड़ों में बिजली, गैस और पानी की क़ीमतों में 27 प्रतिशत से अधिक की गिरावट आयी। हालाँकि, इस गिरावट का मुख्य कारण सरकारी सब्सिडी रहा।

थोक मूल्य मुद्रास्फीति ने दिसंबर 2022 में 10 प्रतिशत से भी अधिक का सर्वोच्च स्तर छुआ था, लेकिन पिछले वर्ष के अधिकांश हिस्से में उसके बढ़ने की गति में गिरावट दर्ज की गयी।