नोतो भूकंप के 6 सप्ताह बाद भी बहाली प्रयास जारी

मध्यवर्ती जापान में 1 जनवरी को आये विनाशकारी भूकंप के 6 सप्ताह बाद भी बहाली और पुनर्निर्माण प्रयास जारी हैं।

सबसे बुरी तरह प्रभावित नोतो प्रायद्वीप में स्वयंसेवक इन प्रयासों में हाथ बँटा रहे हैं, लेकिन उनके वहाँ ठहरने की सुविधाओं का अभाव है।

स्वयंसेवकों को बेहतर सुविधाओं वाले इशिकावा प्रीफ़ैक्चर के कानाज़ावा शहर से प्रभावित इलाक़ों तक जाने के लिए बसों से सफ़र करना पड़ता है।

सबसे बुरी तरह प्रभावित वाजिमा शहर में देश-भर से राहत सामग्री पहुँच रही है।

लाख से पारम्परिक चॉपस्टिक बनाने वाले कारीगर, कोयामा मासाकि का कारख़ाना और मकान, दोनों ही आपदा में तबाह हो गये हैं और वे अपना काम जारी रखने में असमर्थ हैं। आपदा के बाद से वे राहत सामग्री का प्रबंधन कर रहे हैं।

कोयामा बताते हैं, “कई लोग तो मुझसे भी कठिन परिस्थितियों में हैं इसलिए मुझे लगता है कि मैं उनकी कुछ मदद कर सकता हूँ।”

इस बीच, वाजिमा शहर ने सरकारी आर्थिक मदद से क्षतिग्रस्त इमारतों को गिराने के विषय पर लोगों को परामर्श देना शुरू किया है।

इशिकावा प्रीफ़ैक्चर में 60,000 से अधिक मकान पूर्ण या आंशिक रूप से ध्वस्त हो चुके हैं। शहर के अधिकारियों के अनुसार उनसे अब तक क़रीब 500 लोग पूछताछ कर चुके हैं।

ग़ौरतलब है कि इस आपदा में अब तक 241 लोगों के मारे जाने की पुष्टि हो चुकी है और कम से कम 23,000 लोग सबसे बुरी तरह प्रभावित इशिकावा प्रीफ़ैक्चर के आश्रय स्थलों में रह रहे हैं।